व्हाट्सप्प स्टेटस

1-
तुमने क्या सोचा कि तुम्हारे सिवा कोई नही मुझे चाहने वाला..
छोङ कर तो देख,मौत तैयार खङी हैमुझे अपने सीने से लगाने के लिए..

2- 
दो शब्दो मे सिमटी है मेरी मोहब्बत की दास्तान..
उसे टूट कर चाहा और चाह कर टूट गये..

3-
 मंज़िलों से गुमराह भी ,कर देते हैं कुछ लोग ।। 
हर किसी से रास्ता पूछना अच्छा नहीं होता !!

4- 
देखी जो नब्ज मेरी हँस कर बोला वो हकीम,
जा जमा ले महफिल पुराने दोस्तों के साथ,
तेरे हर मर्ज की दवा वही है ....

5-
 जिंदगी में कभी भी किसी की मदद करें तो करके भूल जाएं 
हाँ यदि कोई तुम्हारी मदद करे तो उसे हमेशा हमेशा याद रखें ...

6-
खाक हो गई सुसराल मे आके वो डिग्रीया 
जो मेरी माँ की अलमारी की कभी शान हुआ करती थी ..


7-
  वो इश्क़ हि क्या जिसमे हिसाब हो...
मोहब्बत तो हमेशा बेहिसाब होती है..


8- 
तुम्हे याद कर लूँ तो मिल जाती है हर दर्द से निजात,,
लोग यूं ही हल्ला मचाते हैं की दवाइयाँ महँगी हैं.

9-
 यूँ ना खींच अपनी तरफ मुझे बेबस कर के...! 
ऐसा ना हो के खुद से भी बिछड़ जाऊं और तू भी ना मिले...!!

10-
 जीवन" में "तकलीफ़" उसी को आती है,,,
जो हमेशा "जवाबदारी" उठाने को तैयार रहते है,...!!

11-
जाने क्या कशिश है उसकी मदहोंश आँखों में, 
नजर अंदाज जितना करो … नज़र उस पे ही पड़ती है….

12-
लेकर के मेरा नाम मुझे कोसती तो है … 
नफरत में ही सही पर मुझे सोचती तो है…

13-
तुम्हारे हँसने की वजह बनना चाहता हूँ , 
बस इतना हैं तुमसे कहना………।

14-
ज़िन्दगी प्यारी और बहुत प्यारी है पर 
सिर्फ तब तक जब तक मैं तेरा और तूँ सिर्फ मेरी है।

15-
तू नाराज न रहा कर तुझे वास्ता है खुदा का…
एक तेरा ही चेहरा खुश देख कर तो मैं अपना गम भुलाता हूँ।

16-
उनकी चाहत में हम कुछ यूँ बंधे हैं कि 
वो साथ भी नहीं और हम अकेले भी नहीं…!

17-
दुनियाँ में इतनी रस्में क्यों हैं, प्यार अगर ज़िंदगी है तो इसमें कसमें क्यों हैं, 
हमें बताता क्यों नहीं ये राज़ कोई, दिल अगर अपना है तो किसी और के बस में क्यों है

18-
मेरी दिल की दिवार पर तस्वीर हो तेरी.. 
और तेरे हाथों में हो तकदीर मेरी।

19-
दिल मे छूपा रखी.. है मुहब्बत काले धन की तरह… 
खुलासा नही करता हू कि कही हंगामा ना हो जाये.

20-
वो शाम का दायरा मिटने नहीं देते , 
हमसे सुबहे का इंतज़ार होता नहीं है ।

21-
एक हसरत थी की कभी वो भी हमे मनाये..
पर ये कम्ब्खत दिल कभी उनसे रूठा ही नही।

22-
पहले तो यूं ही गुज़र जाती थीं ,,,,
मोहोब्बत हुई…तो रातों का एहसास हुआ..।।

23-
लोग हर बार यही पूछते हैं तुमने उसमें क्या देखा , 
मैं हर बार यही कहता हूँ बेवजह होती है मोहब्बत।

24-
क्या ऐसा नहीं हो सकता हम प्यार मांगे… 
और तुम गले लगा के कहो, और कुछ?

25-
काश…!! एक खवाहिश पूरी हो इबादत के बगैर…!!! 
वो आ कर गले लगा ले…..मेरी इजाजत के बगैर!!!!!

26-
तुम मुझे अच्छे या बुरे नहीं लगते 
बस अपने लगते हो।

27-
प्यार अगर सच्चा हो तो कभी नहीं बदलता 
न वक़्त के साथ न हलात के साथ

28-
कहतें हैं कि मोहबत एक बार होती है..
पर मैं जब जब उसे देखता हूँ..मुझे हर बार होती है॥

29-
यूँ तो आदत नहीं मुझे मुड़ के देखने की...
तुम्हें देखा तो लगा..एक बार और देख लूँ...

30-
इतना किसी को सताया नहीं करते…हद से ज़्यादा किसी को तड़पाया नहीं करते…
जिनकी साँसें चल्ती हों आपके लफ़्हज़ों से…उन्हे अपनी आवाज़ के लिये तरसाया नहीं करते…

31-
आप से मिलकर हम कुछ बदल से गये शेर पडने लगे गुनगुनाने लगे 
पहले मशूहर थी अपनी संजिदगी अब तो लोगो से मिलने मिलाने लगे

32-
मेरे इस दिल को तुम ही रख लो,
बड़ी फ़िक्र रहती है इसे तुम्हारी..!

33-
उसे बारिश‬ मे भीगना अच्छा लगता है 
ओर ‪‎मुझे‬ सिर्फ़ बारिश मे भीगती हुयी ‪‎वो

34-
जान लेने पे तुले हे दोनो मेरी....
इश्क हार नही मानता..दिल बात नही मानता..

35-
धडकनों को कुछ तो काबू में कर ऐ दिल, 
अभी तो पलके झुकाई है, मुस्कुराना बाकी है उनका ।।

36-
होती नहीं है मोहब्बत सूरत से;मोहब्बत तो दिल से होती है;
सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगती है प्यारी;कदर जिनकी दिल में होती है।

37-
क्यो ना गुरूर करू मै अपने आप पे….
मुझे उसने चाहा जिसके चाहने वाले हजारो थे!

38-
कागज़ों पे लिख कर ज़ाया कर दूं, मै वो शख़्स नही..
वो शायर हुँ जिसे दिलों पे लिखने का हुनर आता है..‬

39-
बाज़ार के रंगों से रंगने की मुझे जरुरत नही, 
किसी की याद आते ही ये चेहरा गुलाबी हो जाता है..

40-
तरस गए हैं तेरे लब से कुछ सुनने को हम…… 
प्यार की बात न सही कोई शिकायत ही कर दे…

41-
पगली तू बात करने का मौका तो दे, कसम से कहता हु, 
रूला देंगे तुझे तेरे ही सितम गिनाते गिनाते

42-
सारा बदन अजीब से खुशबु से भर गया 
शायद तेरा ख्याल हदों से गुजर गया..

43-
वो जो सर झुकाए बैठे हैं, हमारा दिल चुराए बैठे हैं… 
हमने कहा हमारा दिल लौटा दो,वो बोली- हम तो हाथो में मेहँदी लगाये बैठे हैं….

44-
तेरे इश्क से मिली है मेरे वजूद को ये शौहरत,,,,
मेरा ज़िक्र ही कहाँ था तेरी दास्ताँ से पहले...!!

45-
लम्हा भर मिल कर रूठने वाले,
ज़िंदगी भर की दास्तान है तू !

46-
हर कोई पूछता है, करते क्या हो तुम ???
जेसे मोहब्बत कोई काम ही नहीं…

47-
न जाने क्या मासूमियत है तेरे चेहरे पर… 
तेरे सामने आने से ज़्यादा तुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है …!!

48-
अपनी मौत भी क्या मौत होगी,,,,
 यू ही मर जायेंगे एक दिन तुम पर मरते-मरते....!!

49-
पोथी पढ़ पढ़ जग मुआ, पंडित भया न कोय । 
ढाई आखर प्रेम का, पढ़े सो पंडित होय ।

50-
सौदा कुछ ऐसा किया है तेरे ख़्वाबों ने मेरी नींदों से….
या तो दोनों आते हैं …. या कोई नहीं आता !!

51-
सिर्फ दो ही वक़्त पर उसका साथ चाहिए, 
एक तो अभी और एक हमेशा के लिये..

52-
करीब आओ ज़रा के तुम्हारे बिन जीना है मुश्किल,
दिल को तुमसे नही..तुम्हारी हर अदा से मोहब्बत है

53-
हो जा मेरी कि इतनी मोहब्बत दूँगा तुझे,
लोग हसरत करेंगे तेरे जैसा नसीब पाने के लिए..!!

54-
मैं अपनी मोहब्बत में- बच्चो की तरह हूँ,
 जो मेरा हैं बस मेरा है किसी और को क्यो दुँ

55-
तन्हाई मैं मुस्कुराना भी इश्क़ है, इस बात को सब से छुपाना भी इश्क़ है, 
यूँ तो रातों को नींद नही आती, पर रातों को सो कर भी जाग जाना इश्क़ है।

56-
बादलों से कह दो अब इतना भी ना बरसे…. 
अगर मुझे उनकी याद आ गई, तो मुकाबला बराबरी का होगा….

57-
तुम जिन्दगी में आ तो गये हो मगर ख्याल रखना,
हम ‘जान’ दे देते हैं मगर ‘जाने’ नहीं देते !!

58-
ना pimple वाली के लिये, ना dimple वाली के लिये, 
ये photo है सिर्फ अपनी simple वाली के लिये

59-
हज़ार बार ली है तुमने तलाशी मेरे दिल की, 
बताओ कभी कुछ मिला है इसमें प्यार के सिवा..

60-
मुहब्बत में झुकना कोई अजीब बात नहीं; 
चमकता सूरज भी तो ढल जाता है चाँद के लिए।

61-
सोचते हैं जान अपनी उसे मुफ्त ही दे दें,
इतने मासूम खरीदार से क्या लेना देना।

62-
तू मिले या ना मिले ये तो और बात है, 
मैं कोशिश भी ना करूँ, ये तो गलत बात है॥

63-
ना हीरों की तमन्ना है और ना परियों पे मरता हूँ.. 
वो एक “भोली” सी लडकी हे जिसे मैं मोहब्बत करता हूँ !!

64-
उसकी हर एक शिकायत देती है मुहब्बत की गवाही.. 
अजनबी से वर्ना कौन हर बात पर तकरार करता है ?

65-
लोग कहते हैं किसी एक के चले जाने से जिन्दगी अधूरी नहीं होती,
लेकिन लाखों के मिल जाने से उस एक की कमी पूरी नहीं होती है……

66-
सोचता हु हर कागज पे तेरी तारीफ करु, 
फिर खयाल आया कहीँ पढ़ने वाला भी तेरा दीवाना ना हो जाए।

67-
सुना है तुम ज़िद्दी बहुत हो,
मुझे भी अपनी जिद्द बना लो !!

68-
हुज़ूर एक हुक्म हम पे भी फ़रमाइये , 
आ जाइये खुद या फिर हमें बुलाइये !

69-
क़दर करलो उनकी जो तुमसे बिना मतलब की चाहत करते हैं.. 
दुनिया में ख्याल रखने वाले कम और तकलीफ देने वाले ज़्यादा होते है..!

70-
गर्मी तो बोहत पढ़ रही है फिर भी 
उनका दिल पिघलने का नाम ही नहीं ले रहा ।

71-
हसरत है सिर्फ तुम्हें पाने की, और कोई ख्वाहिश नहीं इस दीवाने की, 
शिकवा मुझे तुमसे नहीं खुदा से है, क्या ज़रूरत थी, तुम्हें इतना खूबसूरत बनाने की !!

72-
ये आशिको का ग्रुप है जनाब..!! 
यहाँ दिन सुरज से नही, दीदार से हुआ करते है !!!

73-
तस्वीर बना कर तेरी आस्मां पे टांग आया हूँ 
और लोग पूछते हैं आज चाँद इतना बेदाग़ कैसे है ।

74-
जब तू दाँतो मे क्लिप दबा कर, खुले बाल बांधती है…!!! 
कसम से एक बार तो जिंदगी, वही रुक जाती हैं..☺

75-
तड़प के देखो किसी की चाहत में, तो पता चलेगा, कि इंतजार क्या होता है, 
यूं ही मिल जाए, कोई बिना चाहे, तो कैसे पता चलेगा कि प्यार क्या होता है.

76-
जरा देखो तो ये दरवाजे पर दस्तक किसने दी है, 
अगर ‘इश्क’ हो तो कहना, अब दिल यहाँ नही रहता..

77-
दोस्ती इन्सान की ज़रुरत है! दिलों पर दोस्ती की हुकुमत है! 
आपके प्यार की वजह से जिंदा हूँ! वरना खुदा को भी हमारी ज़रुरत है!

78-
अगर हम सुधर गए तो उनका क्या होगा ,,,,
जिनको हमारे पागलपन से प्यार है...!!
Previous
Next Post »