कुछ यूँ चला है तेरे इश्क का जादू ,,,,,,,,,,,


चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो सांसों में मेरी खुशबु बन के बिखर जाते हो,,,,,
कुछ यूँ चला है तेरे इश्क का जादू सोते-जागते तुम ही तुम नज़र आते हो.....!!


Previous
Next Post »