ग़ज़ल भी हो सकती है….

आज लफ्जों को मैने शाम को पीने पे बुलाया है,,,,,
बन गयी बात तो ग़ज़ल भी हो सकती है….!!

Previous
Next Post »