बस तू नजर आये....

 
बस तू नजर आये

जब भी याद करू खुदा को ,
बस तू नजर आये

कि तुझमे मुझे अपना खुदा नजर आये ।

ये कैसी हवाये चलने लगी हैं , 
आज कल



कि हर झोके में लिपटा मुझे तेरा प्यार नजर आये ।

कभी उदासी तो कभी ख़ुशी ,
कैसा भी वक्त हो

तेरे साथ हर पल में मुझे जन्नत नजर आये ।

कैसे कहूं कि मुझे मोहब्बत नहीं है तुमसे

कि मुझे हर चेहरे में बस तेरा चेहरा नजर आये ।
Previous
Next Post »