चुटकी भर सिन्दूर

ये चुटकी भर सिन्दूर सात जन्मों का साथ है!
जो अहसास दिलाता है कि कोई है जो तुम्हारे हर दुःख में आसपास है!

ये सिंदूर नही तुम्हारी सामाजिक हिम्मत है!
जो तुम्हे देता हर मंजर पर ताकत है!!

इस सिन्दूर के अहसास को कम नही आंकना!
इसे अपनी जिम्मेदारियो का बोझ मत समझना!!

ये सिन्दूर बोझ नही तुम्हारी नैतिक जिम्मेदारी है!
इस सिन्दूर में झलकती एक भारतीय नारी है!!

इस सिन्दूर ने ही भगवान विष्णु को पत्थर सा बनाया था!
सती मईया ने अपने पति को ज़िंदा करवाया था!!

ये सिन्दूर ही है जो सबसे सुंदर नारी का सृंगार है!
ये सिर्फ सिन्दूर ही नही नारीत्व का आकार है!!



Previous
Next Post »